• भारतीय जीवन बीमा निगम के प्रति पाॅलिसीधारकों की सन्तुष्टि का अध्ययन


    डाॅ0 अमरेन्द्र कुमार यादव


    Designation : असिस्टेन्ट प्रोफेसर, सी0 आर0 डी0 आर्य महिला पी0 जी0 कालेज, गोरखपुर।


    Journal Name : Reserach maGma




    Abstract :
    भारत में जीवन बीमा का क्षेत्र अत्यन्त विस्तृत है। जीवन बीमा व्यवसाय को सार्वजनिक एवं निजी दोनों क्षेत्रों के परस्पर सहयोग द्वारा भारत में व्यवस्थित स्वरूप प्राप्त है। जहाँ पर निजी क्षेत्रकी कई कम्पनियाँ जीवन बीमा व्यवसाय का सफल संचालन कर रही हैं वहीं पर जीवन बीमा व्यवसाय में सार्वजनिक क्षेत्र की ओर से एक मात्र संस्था के रूप में भारतीय जीवन बीमा निगम अपनी भूमिका का निर्वहन कर रहा है। भारतीय जीवन बीमा निगम भारत में जीवन बीमा की सबसे वृहद संस्था के रूप में ख्याति प्राप्त कर चुका है। मानवीय कल्याण हेतु भारतीय जीवन बीमा निगम अपने पाॅलिसीधारकों को अनिष्चित घटनाओं एवं असामायिक मृत्यु की स्थित में बीमित राषि प्रदान करके उनके परिवारों को सुरक्षा प्रदान करके उनके लिए खुषहाल जीवन को उपलब्ध कराने में सतत् प्रयत्नषील एवं तत्पर है। इसके साथ ही साथ भारतीय जीवन बीमा निगम, पंेषन बीमा योजना, आम आदमी बीमा योजना, यूनिट योजनाएं, माइक्रो बीमा योजनाएं, हेल्थ योजनाएं, समूह योजनाएं अन्य सुविधाजनक विभिन्न बीमा योजनाएं, ग्रेच्यूटी प्लस जैसी अनेक योजनाओं को जारी करके बच्चों, वयस्कों, विद्यार्थियों, पुरूषों, महिलाओं, वृद्धजनों आदि को होने वाली अनिष्चितता से सुरक्षा प्रदान करके उनके परेषानियों को दूर करने का प्रयास किया है। भारतीय जीवन बीमा निगम द्वारा संचालित विभिन्न योजनओं में यथा नव जीवन बीमा व्यवसाय के अन्तर्गत वर्ष 2016-17 के दौरान कुल 20117628 व्यक्तिगत पाॅलिसियों की बिक्री की गयी, जिसके माध्यम से पाॅलिसीधारकों द्वारा कुल 24746.81 करोड़ रूपये प्रथम प्रीमियम के रूप में जमा किया गया। भारतीय जीवन बीमा निगम द्वारा वर्ष 2016-17 के दौरान कुल 205.11 लाख दावों के अन्तर्गत 99119.27 करोड़ रूपये का निपटान किया गया। वर्ष के अन्तर्गत दावा निपटान 98.34 प्रतिषत रहा। साथ ही मृत्यु सम्बन्धी दावों की संख्या 10.47 लाख थी, जिसके लिए 13581.14 करोड़ रूपये का भुगतान किया गया, इस प्रकार मृत्यु दावा निपटान 99.63 प्रतिषत रहा। इस शोध पत्र में भारतीय जीवन बीमा निगम के प्रति पाॅलिसीधारकों की सन्तुष्टि का अध्ययन किया गया है। जिसके माध्यम से यह तथ्य ज्ञात हुआ है कि अधिकांष पाॅलिसीधारक भारतीय जीवन बीमा निगम द्वारा प्रदान की जाने वाली सेवाओं से सन्तुष्ट हैं।


    Keywords :
    अनिष्चितता, जोखिम, जीवन, सुरक्षा, पाॅलिसी, पाॅलिसीधारक, सन्तुष्टि


    Reference :
    1. भारतीय जीवन बीमा निगम (2016) - डायरी, केन्द्रीय कार्यालय, बम्बई 2. मिश्र, राजेष कुमार (अक्टूबर 2006)-सामाजिक सुरक्षा का एक अद्भुत माध्यम एर्ल.आ.सी., योगक्षेम, भारतीय जीवन बीमा निगम, केन्द्रीय कार्यालय, बम्बई 3. बीमा अभिकर्ता निर्देषिका (2017) - भारतीय जीवन बीमा निगम, 4. नौलखा, डाॅ0 आर.एल. (2006) - बीमा के तत्व, रमेष बुक डिपों, जयपुर 5. कुलश्रेष्ठ डाॅ0 आर. एस.- विाीय प्रबन्ध एस0 बी0 पी0 डी0 पब्लिसिंग हाउस, आगरा, 2011

Creative Commons License
Research maGma is licensed under a Creative Commons Attribution 4.0 International License.